Cristiano Ronaldo को जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं! आज, विश्व प्रसिद्ध फुटबॉलर Cristiano Ronaldo और Neymar का जन्मदिन है। इंटरनेट पर इन्हें बधाईयां मिल रही हैं।

Hopread

Cristiano Ronaldo और Neymar को जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं! फुटबॉल के सुपरस्टार Cristiano Ronaldo का जन्म 5 फरवरी 1985 को हुआ था। उनका देश पुर्तगाल है। साथ ही, ब्राजील के Neymar का भी जन्म इसी दिन हुआ था, वह एक गरीब परिवार से हैं।

वे खिलाड़ी हैं जो दुनिया भर में अपने फैंस का दीवाना बना रखा हैं। जमशेदपुर फुटबॉल का केंद्र है, और इसी केंद्र से भारतीय सुपर लीग में जमशेदपुर एफसी भाग लेती है। यहां स्थित टाटा फुटबॉल अकादमी ने देशभर में कई युवा फुटबॉलरों को प्रशिक्षित किया है। यह शहर देश में संभावित पहला है जहां 12 से अधिक सॉकर स्कूल हैं, जहां 4 से 18 वर्ष के बच्चे फुटबॉल शिक्षा प्राप्त करते हैं। गोवा की तरह यहां भी फुटबॉल का बहुत शौक है।

जमशेदपुर में रोनाल्डो का जन्मदिन धूमधाम से मनाया जा रहा है। सॉकर स्कूल के बच्चे ऑनलाइन जन्मदिन की सेलिब्रेशन कर रहे हैं। टाटा फुटबॉल अकादमी और जेआरडी टाटा कांप्लेक्स में केक काटा जा रहा है। स्थानीय फुटबॉल प्रशंसक इस खास मौके पर इंटरनेट मीडिया पर भी बधाईयां भेज रहे हैं।

रोनाल्डो कभी टिन की छत के नीचे रहते थे

पुर्तगाल के रोनाल्डो आज एक साल में एक हजार करोड़ तक की कमाई कर रहे हैं, परंतु उनका बचपन टिन की छत के नीचे बीता है। उनकी मां एक समय दूसरे के घरों में खाना बनाने का काम करती थीं। किसी तरह से, रोनाल्डो को स्कूल में दाखिला मिला और वहां से ही उनका फुटबॉल सफर शुरू हुआ। उनका मन पढ़ाई में नहीं लगता था, लेकिन आठ साल की आयु में ही उन्होंने स्थानीय फुटबॉल क्लब के साथ खेलना शुरू किया। बाद में, उनका चयन अंडर-17 विश्व कप के लिए हो गया।

18 साल की आयु में ही मैनचेस्टर यूनाइटेड ने रोनाल्डो की प्रतिभा को देखकर 17 मिलियन अमेरिकी डॉलर के अनुबंध में उन्हें नजरअंदाज किया। इसके बाद से रोनाल्डो ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। वर्षों तक स्पेनिश क्लब रियल मैड्रिड का एक पर्याय बने रहे हैं, लेकिन अब वे फिलहाल फ्रांसीसी फुटबॉल क्लब पीएसजी की ओर से खेल रहे हैं।

स्लम एरिया में पले बढ़े ब्राजील के नेमार

रोनाल्डो की तरह, नेमार भी अपना बचपन गरीबी में बिताया। नेमार का परिवार साओ पाउलो, मोगी डास कृजेस नामक झोपड़पट्टी में रहता था। उनके पिताजी भी फुटबॉल के बहुत अच्छे खिलाड़ी थे, लेकिन घर की मामूली हालतें अच्छी नहीं थीं।

परिवार को चलाने के लिए नेमार के पिताजी ने विभिन्न तरह की नौकरियां की। गरीबी के कारण कई बार परिवार बिजली के बिल को जमा नहीं कर पाता था। ऐसे में, घर की बिजली काट दी जाती और नेमार और उनके परिवार को अंधकार में दिन बिताना पड़ता था।

नेमार ने अपना करियर पहले स्ट्रीट फुटबॉलर के रूप में शुरू किया। उनके पिताजी ने गरीबी के बावजूद बेटे को फुटबॉलर बनने में पूरी मदद की। सिर्फ 11 साल की आयु में, नेमार ने ब्राजील के प्रसिद्ध एफसी सेंटोस क्लब से जुड़ लिया। इसके बाद, उन्होंने अपनी प्रतिभा से चमकाया और मुड़ने का सामना नहीं किया।

17 साल की आयु में, नेमार ने एफसी सेंटोस के साथ पहला सीनियर कॉन्ट्रैक्ट साइन किया। 2009 में, नेमार ने अंडर-17 ब्राजील टीम के कप्तान का कार्य भी निभाया। 2017 में, उन्होंने दुनिया के सबसे महंगे फुटबॉलरों में से एक बनने का सम्मान प्राप्त किया।


सोशल मीडिया पर फैंस ने उन्हें बधाईयां भेजी हैं

रोनाल्डो और नेमार की लोकप्रियता का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि शुक्रवार से ही उनका जन्मदिन ट्विटर पर #CristianoRonaldo ट्रेंड कर रहा है। एक यूजर ने लिखा, “इस पीढ़ी के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी को जन्मदिन की शुभकामनाएं! इस खूबसूरत खेल को खेलते रहो और सपनों के साथ लाखों प्रशंसकों को प्रेरित करते रहो!” वहीं, दूसरे यूजर ने लिखा, “हमारी तरफ से आपको जन्मदिन की मुबारकबाद. यूं ही लोगों को प्रेरित करते रहिए।”

Share This Article
Leave a comment